गणतंत्र दिवस लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
गणतंत्र दिवस लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बुधवार, 25 जनवरी 2017

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें




सभी भारतवासियों को गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) की हार्दिक शुभकामनायें।  समस्त भारतवासियों के लिए ये राष्ट्रीय पर्व खुशहाली और सम्रद्धि का सन्देश लेकर आये, यही इस पावन पर्व पर आप सभी के लिए हमारी हार्दिक शुभकामनाएं हैं।  


तिरंगा हमारा शान है, इस पर हमें गर्व है। 






रविवार, 25 जनवरी 2015

गणतंत्र दिवस हमारा है



बसंती परिधान में सजकर आया  
आज गणतंत्र दिवस हमारा है 
हिन्दू मुस्लिम सिख इसाई 
सबको भाईचारे का पाठ पढता 
आज गणतंत्र दिवस हमारा है 
हम एक हैं एक रहेंगे का देता संदेश 
आज गणतंत्र दिवस हमारा है 
रखना है तिरंगे मान और अभिमान 
आज गणतंत्र दिवस हमारा है 
सत्य अहिंसा का पाठ  पढ़ाता 
आज गणतंत्र दिवस हमारा है 

शनिवार, 25 जनवरी 2014

गणतंत्र दिवस


सत्य अहिंसा का पाठ पढाता,
हर्षोल्लास भरा गणतंत्र दिवस है


गणतंत्र दिवस भारत में 26 जनवरी को मनाया जाता है और यह भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है। हर वर्ष 26 जनवरी एक ऐसा दिन है जब प्रत्‍येक भारतीय के मन में देश भक्ति की लहर और मातृभूमि के प्रति अपार स्‍नेह भर उठता है। ऐसी अनेक महत्त्वपूर्ण स्‍मृतियां हैं जो इस दिन के साथ जुड़ी हुई है। 26 जनवरी, 1950 को देश का संविधान लागू हुआ और इस प्रकार यह सरकार के संसदीय रूप के साथ एक संप्रभुताशाली समाजवादी लोक‍तांत्रिक गणतंत्र के रूप में भारत देश सामने आया। 

भारतीय संविधान, जिसे देश की सरकार की रूपरेखा का प्रतिनिधित्‍व करने वाले पर्याप्‍त विचार विमर्श के बाद विधान मंडल द्वारा अपनाया गया, तब से 26 जनवरी को भारत के गणतंत्र दिवस के रूप में भारी उत्‍साह के साथ मनाया जाता है और इसे राष्‍ट्रीय अवकाश घोषित किया जाता है। यह आयोजन हमें देश के सभी शहीदों के नि:स्‍वार्थ बलिदान की याद दिलाता है, जिन्‍होंने आज़ादी के संघर्ष में अपने जीवन बलिदान कर दिए और विदेशी आक्रमणों के विरुद्ध अनेक लड़ाइयाँ जीती।

चलो फिर से खुद को जगाते हैं;
अनुशासन का डंडा फिर घुमाते हैं;
सुनहरा रंग है गणतंत्र का शहीदों के लहू से;
ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते हैं।
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!



शुक्रवार, 25 जनवरी 2013

गणतंत्र दिवस







सत्य अहिंसा का पाठ पढाता,
हर्षोल्लास भरा गणतंत्र दिवस है।
जागो मेरे भारत के सपूतो,
सोये देश को नई पहचान बनाना है।
नफरत,बुराई बैर मिटा के,
विश्व में भारत को उठाना है।
कुटिल,दुराचारियों एव पापियों का, 
कर अंत फिर राम राज्य बनाना है।
भूल चुके जो अपनी संस्कृति को,
उनको सही  राह दिखाना है।
जाति मजहब का भेद भुलाकर,
सबको गले लगाना है।
उन्नति के पथ पर देश हमारा,
फिर से सोने  की चिड़ियाँ बनाना है।









 (सभी चित्र Google से साभार)

You might also like :

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...