सोमवार, 19 अगस्त 2013

हाइकू : जिन्दगी का सफर






१. 
ढूंढते रहे 
सुखो की कतरन 
उम्र गुजरी 

२. 
आशा की नाव 
जिन्दगी का सफर 
बहती नदी 

३. 
यादों के फंदे 
अनसुलझे भेद 
मिट न पाए 

४. 
नदी की धारा 
इच्छाओं का सफर 
कभी न रुके 

५. 
घना अन्धेरा 
जीवन बदरंग 
उलझे रास्ते 

६. 
भ्रमित मन 
बुनता मायाजाल 
निकले कैसे 

७. 
आशा के बीज 
जीवन की  किरण 
पुष्पित होंगे 

८. 
प्रेम व् ज्ञान 
छलके तो ही अच्छा 
मिटे अज्ञान 


कृपया शिल्पगत कमियों के तरफ ध्यान आकर्षित कराएँ-धन्यबाद   

You might also like :

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...